अकबरूद्दीन को पुणे में भी रैली की इजाज़त नहीं

पुणे, महाराष्ट्र

मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के नेता और तेलंगाना के विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी की अब पुणे में होने वाली रैली भी रद्द हो गई। अकबरुद्दीन ओवैसी की आज यानी 26 अक्टूबर को रैली होनी थी, लेकिन कानून-व्यवस्था बिगड़ने की आशंका के चलते स्थानीय पुलिस ने उन्हें रैली करने की इजाज़त नहीं दी। पुलिस प्रशासन के रवैये से एमआईएम की स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं में ज़बरदस्त नाराज़गी है।

इससे पहले अकबरुद्दीन ओवैसी की कल्याण और भिवंडी में भी रैली होने वाली थी, लेकिन वहां भी पुलिस ने उन्हें रैली करने की मंजूरी नहीं दी थी। मालूम हो कि बिहार चुनाव प्रचार के दौरान भड़काऊ भाषण देने की वजह से अकबरुद्दीन ओवैसी के खिलाफ हाल ही में मामला दर्ज हुआ था। पूणे पुलिस ने इसी को ध्यान में लेते हुए ओवैसी को रैली की अनुमति नहीं दी है।

दरअसल एक नवंबर को होने वाले कोंढवा में नगर महापलिका के पार्षद का उपचुनाव है। यहां से एमआइएम के उम्मीदवार मज़हर मणियार चुनाव लड़ रहे हैं। मज़हर मणियार के चुनाव प्रचार के लिए अकबरुद्दीन ओवैसी की रैली का आयोजन किया गया था। स्थानीय पुलिस ने आयोजकों से यह कहते हुए रैली की मंजूरी नहीं दी कि अकबरुद्दीन के भाषण से शहर में सांप्रदायिक तनाव फैल सकता है। रैली की इजाज़त नहीं मिलने पर पुणे में एमआइएम के नेता अज़हर तंबोली ने पुलिस प्रशासन की कड़ी आलोचना की और कहा कि ये चुनाव प्रचार और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के अधिकारों का खुला उल्लंघन है।