मुस्लिमों पर हमले रोकने के लिए एससी-एसटी एक्‍ट जैसे कानून की ज़रूरत

जालना, महाराष्ट्र

अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति पर हमले रोकने के लिए एससी एसटी एक्ट बनाया गया था। सके नतीज़े भी बेहतर रहे हैं। अब मुसलमानों के लिए ऐसे ही कानून बनाने की मांग शुरु हो गई हैं। महाराष्ट्र के समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और विधायक अबु आसिम आज़मी ने ज़ोरदार तरीके से ये मांग उठाई है। अबु आसिम आज़मी ने कहा कि उन्हें ‘समाज के एक खास वर्ग’ से बचाने के लिए कानून बनाया जाना चाहिए।

आज़मी ने यहां कहा कि उत्पीड़न रोकथाम अधिनियम की तर्ज पर एक ऐसा ही कानून मुसलमानों के लिए भी बनाया जाना चाहिए क्योंकि वे समाज के कुछ खास वर्ग के हाथों उत्पीड़न और उनकी अपमानजनक टिप्पणियों का सामना करते हैं। उन्होंने महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना प्रमुख राज ठाकरे के उस बयान को लेकर आलोचना की कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति अधिनियम रद्द कर दिया जाना चाहिए क्योंकि वह असंवैधानिक है। आज़मी ने आरोप लगाया कि पुलिस और एटीएस भी निर्दोष मुसलमानों को आईएस के साथ संबंध में झूठे तरीके से फंसा रही है।

अबु आसिम आज़मी ने कहा कि मुसलमानों और मौलानाओं को आईएस की कड़ी निंदा करनी चाहिए क्योंकि यह आतंकवादी संगठन इस्लाम के लिए धब्बा है और वह इस धर्म की छवि खराब कर रहा है।

1 COMMENT

Comments are closed.