सऊदी में अवैध कामगारों को 90 दिन का अल्टीमेटम

रियाद, सऊदी अरब

सऊदी सरकार ने आज़ाद वीज़ा और अवैध रूप से रह रहे कामगारों के लिए अल्टीमेटम जारी किया है। सऊदी गृह मंत्रालय ने जारी एक आदेश में कहा है कि ऐसे लोग जो अवैध रूप से रह रहे हैं या फिर जनिके वीज़ा की अवधि खत्म हो गई है वो 90 दिनों के अंदर अपने आप को अधिकारियों के हवाले कर दें। ऐसे लोगों के खिलाफ 90 दिनों में कोई कार्रवाई नहीं की जाएगी। ऐसे लोगों को उनके देश भेज दिया जाएगा।

दरअसल सऊदी सरकार ने अपने देश में कानून का सभ्ती से पालन कराने के लिए एक अधियान चलाया है। “बिना कानून उल्लंघन का एक राष्ट्र” नामक इस अभियान का शुरुआत सऊदी सरकार के उप प्रधानमंत्री क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन नाइफ ने किया। नाइफ सऊदी में गृह मंत्रालय का काम भी देखते हैं। अवैध लोगों, वीज़ा खत्म होने वाले और आज़ाद वीज़े पर काम करने वाले लोगों से आग्रह करते हुए उन्होंने कहा कि ऐसे लोग 29 मार्च से 90 दिनों के अंदर वापस चले जाए। इन 90 दिनों में जाने वाले लोगों पर कोई जुर्माना नहीं लगाया जाएगा। उन्होंने लोगों से अपील की कि वह इसका फायदा उठाए।

लगेगा भारी जुर्माना
सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि ऐसे अवैध लोग जो 90 दिनों के भीतर देश नहीं छोड़ेंगे उनके खिलाफ सखत् कार्रवाई की जाएगी। मंत्रालय के प्रवक्ता मेजर जनरल मंसूर अल-टर्की ने कहा कि एक बार यह अवधि ख़त्म हो गयी तो उसके बाद ऐसे व्यक्तियों पर भारी जुर्माना लगेगा और जो लोग जुर्माना नहीं अदा करेंगे उन्हें सज़ा भुगतना होगा।। अल तुर्की ने बताया कि इस अभियान की शुरुआत 3 साल पहले की गयी थी।

क्या है नियम
दरअसल सऊदी अरब में अवैध रूप रहने वालों के लिए बहुत सख्त नियम हैं। ऐसे लोगों को पकड़े जाने पर उन पर केस चलाया जाता है। उनपर भारी जुर्माना लगाया जाता है और जुर्माने की राशि जमा न करने पर जेल में डाल दिया जाता है। ऐसे में इन लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। यहीं नहीं इन कामगारों के घर वालों को भी मुश्किल हालात का सामना करना पड़ता है। ऐसे सैकड़ों भारतीय इस समय सऊदी अरब की जैल में बंद हैं।

वापस आने वालों को मिलेगी सुविधा
क्राउन प्रिंस नाइस ने अधिकारियों को निर्देश जारी किया है कि ऐसे लोग जो 90 दिनों में वापस जाना चाहते हैं उन्हें अधिकारी हर तरह की सुविधा महैया कराएं। ऐसे लोगों तमाम प्रतिबंद से छूट दी जाए और उन्हें सुविधाजनक तरीके से कार्य किए जाए।

कब शुरु होगा अभियान
आंतरिक मंत्रालय के प्रवक्ता मेजर जनरल मंसूर अल-टर्की ने मीडिया से कहा कि 90 दिनों बाद चलने वाले अभियान में 19 सरकारी एजेंसियों को शामिल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस अभियान में उन लोगों पर भी कारवाई होगी जो हज, उमराह या अन्य किसी वजह से देश में आये और वीज़ा अवधि ख़त्म होने के बाद भी रह रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिनके पास कोई आवास या काम का परमिट नहीं है, जो अवैध रूप से सीमाओं में घुसपैठ कर रहे हैं,  उन व्यक्तियों के लिए यात्रा परमिट जारी किए जाएंगे।

पासपोर्ट विभाग सक्रिय
सऊदी अरब के पासपोर्ट विभाग और आप्रवासन विभाग ने कहा है कि वापस जाने वालों के लिए वह सुविधा के लिए अपनी तैयारी पूरी कर ली है। मंत्रालय के प्रवक्ता अल तुर्क ने कहा कि जिनके पास पहचान पत्र नहीं हैं या जो हज वीज़ा की अवधि ख़त्म होने के बाद भी देश में रह रहे हैं, वे अपने नज़दीकी पासपोर्ट डिपार्टमेंट जाकर प्रक्रिया पूरी करें।

विदेश मंत्रालय ने जारी की अपील
विदेश मंत्रालय प्रवक्ता मेजर जनरल मंसूर अल-टर्की ने अपने देश के नागरिकों और निवासियों से अपील की है कि ऐसे व्यक्तियों जिनके पास वैध वीज़ा नहीं है उन्हें अपने यहाँ किसी भी काम पर न रखें। जिनकी वीज़ा की अवधि ख़त्म हो गयी हो उन्हें भी काम न दें। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगं के बारे में 999 पर फ़ोन करके शिकायत करें।