सऊदी अरब: अप्रवासियों के लिए 5 साल का ‘रेजीडेंट परमिट’

जेद्दा
सऊदी अरब सरकार अप्रवासियों के लिए नया आईडेंटिटी कार्ड जारी करेगी। सऊदी का पासपोर्ट विभाग ये कार्ड पांच साल के लिए जारी होगा। ये कार्ड अब ‘इकामा’ की जगह ‘रेजीडेंट परमिट’ का नाम से जाना जाएगा। इसकी शुरुआत इस्लामी महीने की पहली तारीख एक मोहर्रम यानी 15 अक्टूबर से जाएगी।
खबरों में कहा गया है कि इस ‘रेजीडेंट परमिट’ को रिन्यू कराने के लिए पासपोर्ट आफिस का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। कंपनियां और अप्रवासी हर साल इसे ऑनलाइन रिन्यू करा सकते हैं। रिनीवल के बाद कुरियर सर्विस से नया कार्ड दिए गए पते पर भेज दिया जाएगा।
स्थानीय अखबार की खबरों के मुताबिक जिनके पास पुराने इकामा कार्ड हैं, जब वो रिन्यू कराएंगे तो वह कार्ड अपने आप बदल जाएगा। इसके साथ ही जो लोग अपने कफील या कंपनियां बदलेंगे, उन्हें नया कार्ड मिल जाएगा। मालूम हो कि पहले जो इकामा इश्यू किया जाता था उसकी वैधता एक साल की होती थी। नये कार्ड को ऑनलाइन अबशिर या मुकीम के ज़रिये रिन्यू किया जा सकेगा।
इस कार्ड की सबसे खास बाद ये होगी इसमें मैगनेटिक स्ट्रिप लगी होगी जिससे किसी भी तरह की धोखाधड़ी को रोकने में मदद मिलेगी। इसके साथ ही इस कार्ड में एक्सपाइरी तारीख का कहीं ज़िक्र नहीं होगा। ये कार्ड इकामा की जगह अब ‘रेजीडेंट परमिट’ के नाम से जाना जाएगा। सऊदी सरकार ने फिलहाल इकामा बनवाने में लगने वाली फीस में कोई बदलाव नहीं किया है। हालांकि अप्रवासी लोगों को उम्मीद थी कि फीस में कुछ कमी की जा सकती है।
सऊदी अरब सरकार की तरफ से जारी ये ‘रेजीडेंट परमिट’ कार्ड उसकी ई-सर्विस का हिस्सा है। सऊदी सरकार आधुनिक टेक्नोलाजी का भरपूर इस्तेमाल कर रही है और ई-सर्विस के ज़रिये सभी सुविधाएं पर कड़ी नज़र रखना चाहती है।
पासपोर्ट विभाग मुकीम ई-पोर्टल सेवा में वीज़ा की एक्जिट और री-इंट्री, रेजीडेंट परमिट का रिनीवल का पूरा लेखा जोखा रखता है। विभाग का कहना है कि कंपनियां अपने वर्करों की डिटेल इस पोर्टल पर खुद अपडेट कर सकती हैं।