राष्ट्रीय उलेमा कौंसिल के कार्यकर्ताओं की बैठक

अलीगढ़

राष्ट्रीय उलेमा कौंसिल की बैठक पार्टी के प्रदेश सचिव जमाल मोहम्मद खान की अध्यक्षता में हुई। इस बैठक में आपसी मतभेद को भुलाकर पार्टी के हित में काम करने की बात कही गई। जमाल खान ने कार्यकर्ताओं से कहा कि आपसी मतभेद की वजह से पार्टी को बहुत नुकसान हो रहा है, ऐसे में पार्टी को आगे ले जाने का सपना सच नहीं होगा। जमाल खान ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि हमे मिलकर काम करना है, जिससे पार्टी मजबूत हो। उन्होंने विभिन्न धर्मों के बीच भाईचारा बढ़ाने पर ज़ोर दिया। खान ने कहा कि पार्टी का गठन गरीबों, मजदूरों और वंचितों को इंसाफ दिलाने के लिए हुआ था, हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी लगातार इसकी कोशिश कर रहे हैं। हमें उनके हाथों को मज़बूत करना है। उन्होंने राजनीति में दलाली करने वालों से बचने की सलाह दी।

पार्टी ने हर साल की तरह इस साल भी 19 सितंबर को जंतर मंतर, दिल्ली मेँ बटला हाउस फर्ज़ी इनकाउंटर की बरसी पर धरना देने का फैसला किया है, इसके लिए अलीगढ़ यूनिट की तरफ से ज़्यादा से ज़्यादा लोगों को दिल्ली पहुंचने की तैयारी करने की बात कही गई। बैठक में कई लोगों ने अपने विचार रखे और पार्टी को मज़बूत करने की बात की।

पार्टी की इस बैठक में प्रदेश सचिव नफीस अहमद, ज़िला महासचिव मौलाना ज़ाकिर फानी, ज़िला मीडिया प्रभारी मुदस्सिर एजाज, वरिष्ठ कार्यकर्ता सुरेंद्र पाल सिंह, नुसरत अली, खलीक अहमद मौजूद थे। इसके अलावा फरहान आज़मी, साकिब, जाकिर, तलसीम, वाकिफ, रागिब, खालिद, सलमान, फरहान मकसूद, साद, फराज़, तनवीर, राज़ीम, हारीश, आसिफ समेत सैकड़ों पार्टी कार्यकर्ता मौजूद थे।