यूनानी के विकास के लिए केंद्र सरकार कटिबद्ध: श्रीपद नाइक

हैदराबाद

केंद्र सरकार में आयुष (स्‍वतंत्र प्रभार) और स्‍वास्‍थ्‍य एवं परिवार कल्‍याण राज्‍य मंत्री श्री श्रीपद येसो नाइक ने कहा कि सरकार यूनानी दवाओं समेत भारतीय दवा प्रणालियों के सर्वांगीण विकास के प्रति पूरी तरह से कटिबद्ध है। आयुष मंत्री श्रीपद नाइक हैदराबाद में केंद्रीय यूनानी दवा अनुसंधान संस्‍थान (सीआरआईयूएम) में अपग्रेटेड बॉयोमेडिकल लैब और गेस्‍ट हाउस के उद्घाटन अवसर पर बोल रहे थे। इस मौके पर आयुष मंत्री ने नये अस्‍पताल ब्‍लॉक की आधारशिला भी रखी।
आयुष मंत्री श्रीपद नाइक ने कहा कि केंद्र सरकार की राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य नीति में यूनानी दवा भी एक भारतीय दवा प्रणाली के रूप में मान्‍यता प्राप्‍त है। युनानी देश के स्‍वास्‍थ्‍य सुविधा डिलीवरी संगठन में इसका विशिष्‍ट स्‍थान है। श्रीपद नाइक ने कहा कि भारत को यूनानी दवा के क्षेत्र में वैश्विक स्‍तर पर अग्रणी माना जाता है। इसके साथ ही यहां शैक्षणिक, स्‍वास्‍थ्‍य सुविधा, अनुसंधान और दवा संस्‍थानों का व्‍यापक, सुसंगठित एवं कार्यरत नेटवर्क है, जौ दुनिया के दूसरे देशों में नहीं है।
श्रीपद नाइक ने कहा कि हैदराबाद में मौजूद सीआरआईयूएम एक प्रमुख सेंटर है, जो पिछले चार दशकों से यूनानी दवा की केंद्रीय अनुसंधान परिषद (सीसीआरयूएम) के तहत काम कर रहा है। यह भारत सरकार के आयुष मंत्रालय के तहत एक स्‍वायत्‍तता प्राप्‍त संगठन है। आयुष मंत्री ने कहा कि पिछले 36 सालों के दौरान इस परिषद ने विभिन्‍न अनुसंधान कार्यक्रमों में बहुत महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की हैं। ये संस्थान यूनानी दवा के क्षेत्र में प्रमुख अनुसंधान संस्‍थान के रूप में उभर कर सामने आया है। सीसीआरयूएम ने कुछ प्रमुख वैज्ञानिक संस्‍थानों जैसे कि भारतीय चिकित्‍सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर), नई दिल्‍ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (एम्‍स), दिल्‍ली स्थित वल्लभभाई पटेल चेस्ट इंस्टीट्यूट और हैदराबाद स्थित डेक्‍कन मेडिकल कॉलेज (डीएमसी) के साथ गठबंधन किये हैं।
श्रीपद नाइक ने कहा कि केंद्र सरकार परांपरागत दवा प्रणालियों जैसे आयुर्वेद और यूनानी को बढ़ावा देने और इनके विकास के लिए सक्रियता के साथ कार्य कर रही है। इस दिशा में एक प्रमुख पहल के तहत राष्‍ट्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मिशन (एनएचएम) के तहत स्‍वास्‍थ्‍य सुविधा में दवा की आयुष प्रणालियों को सुव्‍यवस्थित किया जा रहा है।
आयुष मंत्री ने कहा कि इन प्रणालियों को राष्‍ट्रीय स्‍तर पर बढ़ावा देने और लोगों को आवश्‍यक स्‍वास्‍थ्‍य सुविधा प्रदान करने के लिए यूनानी दवा समेत दवा की विभिन्न आयुष प्रणालियों के चिकित्‍सकों की सक्रियता के लिए उनकी सराहना की।
इस मौके पर तेलंगाना सरकार के स्‍वास्‍थ्‍य और चिकित्‍सा मंत्री श्री चारलाकोला एल. रेड्डी, तेलंगाना सरकार के विधायक श्री मगंती गोपीनाथ समेत सीसीआरयूएम के कई अधिकारी भी मौजूद थे।