यासर शाह ने की कई योजनाओं की शुरुआत

बहराइच

दिल्ली और मुंबई की तरह बहराइच में भी बिजली की सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी, सभी केबिल लाइन भुमिगत होंगी। प्रदेश के ऊर्जा राज्य मंत्री आज मध्यांचल बिजली वितरण निगम और एनर्जी ईफिशियंसी सर्विसेज के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं। इस अवसर पर एक बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें ज़िले के तमाम बड़े अधिकारियों के साथ बड़ी संख्या में पार्टी के कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

ये कार्यक्रम बहराइच के गेंदघर मैदान में आयोजित किया गया था। इस मौके पर ऊर्जा राज्य मंत्री यासर शाह ने बहराइच के लिए बिजली विभाग की करीब 100 करोड़ की कई परियोजनाओं का शुभारंभ किया। इन परियोजनाओं में शहर की बिजली व्यवस्था को अण्डर ग्राऊण्ड करने की शुरूआत की गई। इसके साथ ही ज़िले में एलईडी बल्ब वितरण का कार्यक्रम भी शुरु किया गया।

कार्यक्रम में बोलते हुए ऊर्जा राज्य मंत्री ने कहा कि 2012 में प्रदेश में बिजली विभाग की हालत काफी खस्ता थी। विभाग पर 25 हज़ार करोड़ का बकाया था। देश की कोई भी कंपनी प्रदेश को बिजली देने को तैयार नहीं थी। उन्होंने कहा कि अब परिस्थितियां बदल गई हैं। सीएम अखिलेश यादव की सकारात्मक सोच की वजह से 2016 तक प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में 22 से 24 घंटे बिजली और ग्रामीण क्षेत्रों में 16 से 18 घंटे बिजली मिल सकेगी। यासर शाह ने कहा कि प्रदेश में हर साल 100 सब स्टेशन का निर्माण हो रहा है। इसलिए आगे चलकर 24 घंटे बिजली देने में कोई दिक्कत नहीं आएगी। बीएड शिक्षकों का ज़िक्र करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार इनकी बहाली के लिए वचनबद्द है।

इस अवसर पर एलईडी बल्ब वितरण कार्यक्रम की शुरुआत की गई। इसमें एक ही दिन में 50 हज़ार एलईडी बल्ब वितरित किया गया। कार्यक्रम को प्रमुख सचिव ऊर्जा/अध्यक्ष पावर कारपोरेशन लिमिटेड संजय अग्रवाल ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में मुख्य रूप से सांसद बहराइच सवित्री बाई फुले, एमएलसी अरुणवीर सिंह, विधायक नानपारा माधुरी वर्मा, देवापाटन मंडलायुक्त मुरलीधर दूबे, डीआईजी जेपी सिंह, ज़िलाधिकारी अभय, पुलिस अधीक्षक नेहा पांडेय समेत कई लोग मौजूद थे।